श्री त्रिदंडी देव सेवाश्रम संस्थान, सिलवासा की ओर से सभी मित्रों, शुभचिन्तकों एवं सभी वैष्णवों को दीपावली की हार्दिक शुभकामनायें । आप सभी पर माँ लक्ष्मी एवं भगवान नारायण की कृपा सदैव बनी रहे ।। नारायण नारायण ।।

Vision

जय श्रीमन्नारायण,

मेरे सभी युवा मित्रों को नमस्कार, मैं ये चाहता हूँ, की आप सभी अपने धर्म के बारे में जानें । हमारा धर्म, हमारे वेद पूर्णतः विज्ञान है,  
और ये बात गुरुओं के गुरु, श्रीमद्विष्वक्सेनाचार्य, परम आदरणीय, ब्रह्मलीन वैकुंठवासी, श्री त्रिदंडी स्वामी जी महाराज अपने हर प्रवचनों में कहा करते थे। लेकिन इस तथ्य पर आजतक किसी अन्य धर्मगुरुओं ने कोई प्रकाश नहीं डाला । यही कारण है, की हमारा धर्म हमारे ही लोगों की नज़रों में उपेक्षित सा हो गया है ।।

हमारे लगभग सभी आचार्यों ने केवल राम कथा और कृष्ण कथा कह कर हमारे धर्म को सांप्रदायिक बना कर रख दिया है । लेकिन मूल रूप में हमारे धर्म का, हमारे शास्त्रों और वेदों का हरेक सूत्र सृष्टि के सर्वोत्तम विज्ञान को दर्शाता है । जरुरत है, केवल हमें उस तरफ अपने कदम को बढाने की ।।

और इसीलिए मैं उम्मीद करता हूँ, की जिस दिन हमारे देश की युवा पीढ़ी, अपने धर्म अपने वेदों के प्रति, अपनी जिम्मेवारी समझ लेगी, उस दिन किसी भी देश की खोज (research) के पीछे हम नहीं बल्कि हमारे अनुसन्धान (research) के पीछे दुनियां के सभी देश आयेंगें ।।

इसी उम्मीद के साथ, नारायण से यही प्रार्थना है, की हमें और हमारी युवा पीढ़ी को धर्म के साथ-साथ विज्ञान के अनुसन्धान (research) की पूरी शक्ति और ज्ञान दें ।।

।। नारायण नारायण ।।

Photo Gallery