मेरी ये बेवफा ज़ुबान तुझसे इज़हार कर बैठा।।

0
909
Bevafa Meri Ye Juban
Bevafa Meri Ye Juban

बेवफा मेरी ये ज़ुबान तुझसे इज़हार कर बैठा।। Bevafa Meri Ye Juban Izahar Kar Baitha.

      प्यारे कन्हैया, प्यारे कान्हा जी !
                  मैं तुम्हें इतने प्यार से बुलाता हूँ, कभी भूलकर ही सही “आ भी जाओ प्यारे” ।।
मेरे प्यारे कन्हैया! मेरे प्रियतम कान्हा जी!
कसूर तो था ही मेरी इन निगाहों का ।
जो चुपके से प्रियतम तेरा दीदार कर बैठा ।।
हमने तो खामोश रहने की ठानी ली थी ।

पर ये बेवफा मेरी ज़ुबान इज़हार कर बैठा ।।

Bevafa Meri Ye Juban

तू हमसफ़र, तू हम डगर, तू हमराज, नजर आता है।
मेरी अधूरी सी जिंदगी का.. ख्वाब नजर तूं आता है।।
कैसी उदास है जिंदगी प्रियतम तेरे बिन हर लम्हा।
मेरे हर लम्हे में सिर्फ तेरा ही अहसास नजर आता है।।

Bevafa Meri Ye Juban
प्यारे ! रह रह के मुझे इतना क्यूँ रुलाते हो ।
याद कर तो सकते नहीं तो याद क्यूँ आते हो ।।
 
।। नारायण सभी का कल्याण करें ।।
 
 
मित्रों, नित्य नवीन सत्संग हेतु कृपया इस पेज को लाइक करें – facebook Page.
 
जयतु संस्कृतम् जयतु भारतम् ।।
 
।। नमों नारायण ।।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here