Bhagwat ji Ki Arti

0
112
Bhagwat ji Ki Arti by Swami Dhananjay Maharaj in Miralipur, Balia, Begusarai, Bihar. Bhag-7.

Previous articleBhagwat Katha By Swami Dhananjay Maharaj
Next articleआरजू है की एक नजर मुझे भी देखा करे।।
भागवत प्रवक्ता- स्वामी धनञ्जय जी महाराज "श्रीवैष्णव" परम्परा को परम्परागत और निःस्वार्थ भाव से निरन्तर विस्तारित करने में लगे हैं। श्रीवेंकटेश स्वामी मन्दिर, दादरा एवं नगर हवेली (यूनियन टेरेटरी) सिलवासा में स्थायी रूप से रहते हैं। वैष्णव धर्म के विस्तारार्थ "स्वामी धनञ्जय प्रपन्न रामानुज वैष्णव दास" के श्रीमुख से श्रीमद्भागवत जी की कथा का श्रवण करने हेतु संपर्क कर सकते हैं।।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here