खुशियों तक पहुंचने वाले मार्ग।।

0
327
Khushiyon Ke Marg
Khushiyon Ke Marg

खुशियों तक पहुंचने वाले मार्ग।। Khushiyon Ke Marg.

जय श्रीमन्नारायण,

मित्रों, कभी-कभी बहुत छोटे-छोटे सूत्र हमें जिंदगी के बड़े सबक सिखा जाते हैं। यह आवश्यक नहीं है, कि संसार का समस्त ज्ञान हम अपने अनुभवों से ही सिखें। दूसरों के अनुभवों से गुजरकर भी हम जीवन के सत्य और असत्य का ज्ञान प्राप्त कर सकते हैं। साहित्य और कला इसमें हमारी मदद करते हैं। दिग्गज साहित्यकारों ने जीवन के विभिन्न पक्षों को हमारे सामने रखने का प्रयास किया है। उनसे हम आसानी से बहुत कुछ सिख सकते हैं। बहुत से ऐसे साहित्यकार हुये जिन्होंने जिंदगी में स्वयं भी बहुत जोखिम उठाए। उन्होंने जीवन में तरह-तरह के अनुभव हासिल किए।।

तब कुछ ऐसे सूत्र निकाले जो सभी के लिए उपयोगी हो सकते हैं। किसी भी सूत्र को उपरी तौर पर देखने के बजाय उन्होंने गहराई में जाकर उसे समझा और फिर दुनिया के सामने रखा। चूंकि ऐसे महापुरुषों ने जिंदगी के कडवे-मीठे अनुभवों से गुजर कर विषयों को यथार्थ रूप से एवं भली-भांति जाना। इसी सत्य को उन्होंने अपनी रचनाओं में भी उद्घाटित किया। उनके कुछ बेहतरीन सूत्रों को देखें तो इनके गहरे अर्थ हमारे जीवन का मार्गदर्शन कर सकते हैं।।

प्रतीक्षा न करें, पहल करें।। Don’t wait, take the initiative.

अगर कोई आपसे प्रश्न करे, कि कार्य हुआ की नहीं? तब सबसे आसान जवाब यह है, कि हाँ मैं कर रहा हूं। इसका अर्थ यह है, कि अगर किसी काम में लगे हैं तो उसे निष्कर्ष पर पहुंचाने के बारे में सोचें। बीच में अटकाए न रखें, कि अभी तो हम उसे कर ही रहे हैं। अगर किसी के सामने प्रस्ताव रखने के बारे में सोच रहे हैं, तो आगे बढ़कर तुरंत अपनी बात कहना चाहिए।।

ऐसा करने का फायदा यह है, कि अगर कोई इस प्रस्ताव से सहमत नहीं हुआ तो भी कयास लगाने से मुक्ति मिल जाएगी। अगर लगता है, कि कोई खास तरह की नौकरी के पीछे जाना चाहिए तो रुकिए नहीं, उसका पीछा कीजिए। बैठे रहने से केवल असफलता ही प्राप्त करेंगे या उससे भी बुरा ही होगा। इस तरह आप कहीं नहीं पहुंचने वाले।।

प्रेम न हो तो साथ यात्रा नहीं।। No travel with no love.

उस व्यक्ति के साथ किसी भी यात्रा पर मत जाइए जिससे आप प्यार नहीं करते। जब आप किसी से प्रेम नहीं करते तो उसके साथ छुट्टी मनाने से चिढ़ और खीझ ही महसूस होगी। ऐसी किसी भी यात्रा में आप समय को व्यर्थ गंवाता हुआ ही पाएंगे। आप रुचियां बांट नहीं पाएंगे और पूरे रास्ते बोरियत ही महसूस करेंगे। साथ अच्छा हो तो यात्रा का आनंद दुगुना हो जाता है। इसलिए इस बात को हमेशा याद रखें, कि जिनसे पटरी नहीं बैठती है उनके साथ यात्रा भी नहीं की जा सकती।।

जो प्रिय है वह खोता नहीं।। The one who is dear does not lose.

जिनसे आप प्रेम करते हैं, वे लोग आपके जीवन में आते और जाते रहेंगे। लेकिन उनका प्रभाव आपके जीवन पर हमेशा बना रहेगा। भले ही उन प्रियजनों में दादी हो या फिर टीचर या फिर बचपन का कोई मित्र। इस बात के आकलन के कोई मायने नहीं हैं, कि किस व्यक्ति का कितना प्रभाव रहा। लेकिन जिन्हें आप प्रेम करते हैं, उनका प्रभाव आप पर जरूर रहता है। इस तरह कोई भी तो आपसे दूर नहीं जाता बल्कि आपके भीतर हमेशा बना रहता है। जिनसे भी आप प्यार करते हैं उनकी भूमिका आपके जीवन में बनी रहती है।।

ठोकर लगने से टूटे नहीं मजबूत बनें।। Don’t be strong by stumbling.

कोई भी व्यक्ति ऐसा नहीं होगा जिसे जीवन में कोई चोट न पहुंची हो। हर किसी के जीवन में खराब दौर आता है। मुश्किलों भरा वक्त आता है। लेकिन उस दौर में आत्मविश्वास रखकर कठिनाइयों से आगे निकलने पर आप खुद को मजबूत बना पाते हैं। साथ ही भविष्य की चुनौतियों का मुकाबला करने की योग्यता हासिल करते हैं। चुनौतियों के बीच से निकलें और मजबूत बनें। मुश्किलें आपको आगे बढ़ने का रास्ता भी सुझाती हैं।।

निरर्थक को पहचानें।। Identify redundant.

जैसे-जैसे आप जीवन में आगे बढ़ते हैं, आपको जिंदगी में बहुत-सी चीजें बकवास नजर आती हैं। इसलिए भीतर ऐसी व्यवस्था पैदा करना जरूरी है, कि हम चीजों को समझकर नीरस और ऊबाऊ चीजों से आगे बढ़ सकें। जीवन में बहुत सारी चीजें हैं जिनका ज्यादा अर्थ नहीं होता। और उन्हें झेलते रहने में कोई खास फायदा भी नहीं है। ऐसी चीजों के बीच फंसे रहने से भी कोई फायदा नहीं होता।।

प्रेम पर खेद भी होता है।। Love is sorry.

यह सत्य है, कि हर प्राणी को जीवन में किसी खास (स्त्री/पुरुष) से प्रेम करने का अफसोस रह जाता है। लगभग यह सभी के साथ होता है। कुछ के साथ पहले होता है तो कुछ के साथ जीवन में आगे बढ़ने के बाद। इससे बचने का कोई तरीका नहीं है। ऐसी किसी भी अफसोस जनक स्थिति में हमें बस यही स्वीकार करना चाहिए, कि इस रिश्ते की तरफ हमने खुद कदम बढ़ाया था।।

भरोसे का इंसान कैसे मिले।। How to get a person of trust.

अगर आप यह जानना चाहते हैं, कि आप किसी पर भरोसा कर सकते हैं या नहीं। तो उस पर भरोसा करके देखें। आपको पता चल जाएगा, कि दूसरों पर भरोसा करना कितना ठीक है। दूसरों पर भरोसा करना हमेशा से एक कठिन और उलझन भरा काम रहा है। लेकिन आप इसे आजमाकर ही जान सकते हैं। हाँ अवश्य ही ऐसा हो सकता है, कि कुछ लोग आपके भरोसे पर खरे नहीं उतरेंगे। लेकिन कुछ ऐसे जरूर होंगे जो आपका विश्वास हासिल करेंगे। इस दूसरी तरह के लोगों पर आप हमेशा भरोसा कर सकते हैं।।

कोई कुछ कहे, तो सुनो।। If someone says something, listen.

जब भी कोई आपको कुछ समझाने की कोशिश कर रहा हो तो आपको उसकी बात ध्यान से और पूरी सुनना चाहिए। भले ही लोग आपको बहुत-सी फिजूल बातें बताते रहें लेकिन उन्हीं के बीच से काम की बातें भी मिल जाती हैं। सुनना एक तरह का ध्यान है, यह आपको सहनशील भी बनाता है। जब भी कोई व्यक्ति उसके विचार व्यक्त कर रहा हो, तो आपको बहुत ध्यान से सुनना चाहिए।।

यही उपरोक्त मार्ग ऐसे हैं, जो हमें जीवन के अंतिम लक्ष्य तक पहुँचा देते हैं। इन्हें आप बुजुर्गों की सलाह, शास्त्रों की बातें अथवा महापुरुषों का अनुभव जो भी कहना चाहें कह सकते हैं। परन्तु यही वो मार्ग हैं, जो आपको आपके जीवन की अनन्त खुशियों को प्रदान कर सकते हैं।।

आप सभी अपने मित्रों को फेसबुक पेज को लाइक करने और संत्संग से उनके विचारों को धर्म के प्रति श्रद्धावान बनाने का प्रयत्न अवश्य करें।।

नारायण सभी का नित्य कल्याण करें । सभी सदा खुश एवं प्रशन्न रहें ।।

जयतु संस्कृतम् जयतु भारतम्।।

।। नमों नारायण ।।

Previous articleप्यार के रिश्ते आखिर टूटते क्यों हैं।।
Next articleमत्स्य अवतार का रहस्य।।
भागवत प्रवक्ता- स्वामी धनञ्जय जी महाराज "श्रीवैष्णव" परम्परा को परम्परागत और निःस्वार्थ भाव से निरन्तर विस्तारित करने में लगे हैं। श्रीवेंकटेश स्वामी मन्दिर, दादरा एवं नगर हवेली (यूनियन टेरेटरी) सिलवासा में स्थायी रूप से रहते हैं। वैष्णव धर्म के विस्तारार्थ "स्वामी धनञ्जय प्रपन्न रामानुज वैष्णव दास" के श्रीमुख से श्रीमद्भागवत जी की कथा का श्रवण करने हेतु संपर्क कर सकते हैं।।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here