मुरली वाले ने ऐसा, करम कर दिया।।

0
132
Murali Wale Ne Aisa
Murali Wale Ne Aisa

मुरली वाले ने ऐसा, करम कर दिया, अब किसी के रहम, की जरुरत नहींMurali Wale Ne Aisa Karam Kar Diya.

मुरली वाले ने ऐसा, करम कर दिया,
अब किसी के रहम, की जरुरत नहीं।
नैनो से नैना मिले, हम उनके हो गए,
अब किसी के रहम, की जरुरत नहीं।।
तेरे चरणों में, आ गए मोहन,
नजरो से दिल में, समा गए मोहन,
अब किसी के, रहम की जरुरत नहीं,
मुरली वाले ने ऐसा, करम कर दिया,
अब किसी के रहम, की जरुरत नहीं।
Murali Wale Ne Aisa
मुखड़ा ये तेरा, भा गया मोहन,
बावरे मन में, आ गया मोहन,
अब किसी और, चाहत की परवाह नहीं,
मुरली वाले ने ऐसा, करम कर दिया,
अब किसी के रहम, की जरुरत नहीं।
तुम को ही चाहूँ, सांझ सवेरे,
चैन ना आए, बिना अब तेरे,
अब बिना तेरे, हमको तो जीना नहीं,
मुरली वाले ने ऐसा, करम कर दिया,
अब किसी के रहम, की जरुरत नहीं।
Murali Wale Ne Aisa
मुरली वालें ने ऐसा, करम कर दिया,
अब किसी के रहम, की जरुरत नहीं।
नैनो से नैना मिले, हम उनके हो गए,
अब किसी के रहम, की जरुरत नहीं।।

नारायण सभी का नित्य कल्याण करें । सभी सदा खुश एवं प्रशन्न रहें ।।

जय जय श्री राधे ।।
जय श्रीमन्नारायण ।।

Previous articleइन कार्यों से समाज में नाम कमा सकते हैं।।
Next articleधर्म के ह्रास होने का कारण।।
भागवत प्रवक्ता- स्वामी धनञ्जय जी महाराज "श्रीवैष्णव" परम्परा को परम्परागत और निःस्वार्थ भाव से निरन्तर विस्तारित करने में लगे हैं। श्रीवेंकटेश स्वामी मन्दिर, दादरा एवं नगर हवेली (यूनियन टेरेटरी) सिलवासा में स्थायी रूप से रहते हैं। वैष्णव धर्म के विस्तारार्थ "स्वामी धनञ्जय प्रपन्न रामानुज वैष्णव दास" के श्रीमुख से श्रीमद्भागवत जी की कथा का श्रवण करने हेतु संपर्क कर सकते हैं।।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here