मेरे सरकार का दीदार बड़ा प्यारा है।।

0
87
Sarkar Ka Deedar
Sarkar Ka Deedar

मेरे सरकार का दीदार बड़ा प्यारा है…..।। Mere Sarkar Ka Deedar Bada Pyara Hai.

मेरे सरकार का दीदार बड़ा प्यारा है…..।। 
मेरे सरकार का दीदार बड़ा प्यारा है…..।। 
कृष्ण मेरा प्यारा गोविन्द बड़ा प्यारा है…..।। 
कृष्ण मेरा प्यारा गोविन्द बड़ा प्यारा है…..।।
Mere Sarkar Ka Deedar Bada Pyara Hai…
Krishn Bada Pyara Govind Mera Pyara Hai..
तेरे नैना कटीले…. मोटे मोटे रसीले…..।। 
तेरे नैना कटीले…. मोटे मोटे रसीले…..।। 
दिल को छीन लिया…. तेरी प्यारी हँसी ने…।। 
दिल को छीन लिया…. तेरी प्यारी हँसी ने…।।
प्यारी अंखियों में लगा कजरा बड़ा प्यारा है….।। 
प्यारी अंखियों में लगा कजरा बड़ा प्यारा है….।। 
कृष्ण मेरा प्यारा गोविन्द बड़ा प्यारा है….।। 
कृष्ण मेरा प्यारा गोविन्द बड़ा प्यारा है….।।
hari ka pyara naam hai
hari ka pyara naam hai
Mere Sarkar Ka Deedar Bada Pyara Hai…
Krishn Bada Pyara Govind Mera Pyara Hai..
लटों ने लूट लिया……।। जिगर घायल ये किया….।। 
लटों ने लूट लिया…. जिगर घायल ये किया….।। 
तेरी प्यारी अदा ने….।। मुझे बेचैन किया….।। 
तेरी प्यारी अदा ने….।। मुझे बेचैन किया….।।
मेरे सीने में तेरा दर्द बड़ा प्यारा है….।। 
मेरे सीने में तेरा दर्द बड़ा प्यारा है….।। 
कृष्ण मेरा प्यारा गोविन्द बड़ा प्यारा है….।। 
कृष्ण मेरा प्यारा गोविन्द बड़ा प्यारा है….।।
Mere Sarkar Ka Deedar Bada Pyara Hai…
Krishn Bada Pyara Govind Mera Pyara Hai..
ओ मेरे श्याम पिया….।। तेरे बिन तड़पे जिया….।। 
ओ मेरे श्याम पिया….।। तेरे बिन तड़पे जिया….।। 
प्रेम तुम से ही किया….।। तूने क्या जादू किया….।।
तेरी यादों में थिरके अंग मेरा सारा है….।। 
तेरी यादों में थिरके अंग मेरा सारा है….।। 
कृष्ण मेरा प्यारा गोविन्द बड़ा प्यारा है….।। 
कृष्ण मेरा प्यारा गोविन्द बड़ा प्यारा है….।।
Sarkar Ka Deedar
Mere Sarkar Ka Deedar Bada Pyara Hai…
Krishn Bada Pyara Govind Mera Pyara Hai..
मेरे सरकार का दीदार बड़ा प्यारा है…..।। 
मेरे सरकार का दीदार बड़ा प्यारा है…..।। 
कृष्ण मेरा प्यारा गोविन्द बड़ा प्यारा है…..।। 
कृष्ण मेरा प्यारा गोविन्द बड़ा प्यारा है…..।।

कभी तो आ भी जाओ प्रियतम ! क्योंकि प्यारे !

 
आपके बिना हमारा कोई आस्तित्व ही नहीं बचता ।।
 
।। नारायण सभी का कल्याण करें ।।
 
 
जयतु संस्कृतम् जयतु भारतम् ।।
 
जय जय श्री राधे ।।
जय श्रीमन्नारायण ।।
Previous articleमेरे सरकार का दीदार बड़ा प्यारा है…..।।
Next articleमैं दिल हूँ तुम मेरी साँसे हो।।
भागवत प्रवक्ता- स्वामी धनञ्जय जी महाराज "श्रीवैष्णव" परम्परा को परम्परागत और निःस्वार्थ भाव से निरन्तर विस्तारित करने में लगे हैं। श्रीवेंकटेश स्वामी मन्दिर, दादरा एवं नगर हवेली (यूनियन टेरेटरी) सिलवासा में स्थायी रूप से रहते हैं। वैष्णव धर्म के विस्तारार्थ "स्वामी धनञ्जय प्रपन्न रामानुज वैष्णव दास" के श्रीमुख से श्रीमद्भागवत जी की कथा का श्रवण करने हेतु संपर्क कर सकते हैं।।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here