Kaliyugi Guanveero Ka Samadhan

कलियुगी ज्ञानवीरों से बचने का उपाय संकीर्तन।।

कलियुगी ज्ञानवीरों से बचने का उपाय संकीर्तन।। Kaliyugi Guanveero Ka Samadhan. जय श्रीमन्नारायण, मित्रों, जिस प्रकार वर्षाऋतु मेँ संध्या समय वृक्षोँ की चोटी पर इधर-उधर... Details
Mukti Ka Samay

मुक्ति अर्थात आत्मकल्याण की अवस्था।।

मुक्ति अर्थात आत्मकल्याण की अवस्था।। Mukti Ka Samay. कौमार आचरेत्प्राज्ञो धर्मान् भागवतानिह। दुर्लभं मानुषं जन्म तदप्यध्रुवमर्थदम्।। मित्रों, इस संसार मेँ मानव जन्म अति दुर्लभ है।... Details
Dev Uthani Ekadashi

देवउठनी एकादशी व्रत कथा एवं पूजा विधि।।

देवउठनी एकादशी व्रत कथा एवं पूजा विधि सहित हिन्दी में ।। Devuthani Ekadashi Vrat Katha And Vidhi in Hindi. जय श्रीमन्नारायण, मित्रों, कार्तिक माह के... Details

बच्चों के बालपन को गम्भीरता से समझो ।।

बच्चों के बालपन को गम्भीरता से समझो ।। Balyakal Ko Gambhirata Se Samjho.मित्रों, बच्चों के मानसिक स्थिति को समझना भी एक कठिन कार्य है ।... Details

ॐ नमो नारायणाय अष्टाक्षरमाहात्म्यं ॥ Sansthanam.

॥ ॐ नमो नारायणाय अष्टाक्षरमाहात्म्यं ॥श्रीशुक उवाच --किं जपन् मुच्यते तात सततं विष्णुतत्परः ।संसारदुःखात् सर्वेषां हिताय वद मे पितः ॥ १॥व्यास उवाच --अष्टाक्षरं प्रवक्ष्यामि मन्त्राणां... Details

मनुष्य के कुछ निजी आदतों से भी मुक्ति का मार्ग निकल जाता है ।। Sansthanam.

जय श्रीमन्नारायण,Bhagwat Pravakta - Swami Dhananjay Maharaj.मित्रों, मनुष्य एक विलक्षण (विशिष्ट) प्राणी है, क्योंकि एक कामना ऐसी है, जो लगभग जीवमात्र में होती है ।... Details

रामनवमी को हमें मर्यादा दिवस के रूप में मनाना चाहिए । Swami Dhananjay Maharaj.

जय श्रीमन्नारायण,Swami Dhananjay Maharaj.मित्रों, मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्री राम के अवतरण के इस दिवस की आप सभी भगवद्भक्तों एवं वैष्णवों को हार्दिक शुभकामना ।।मर्यादा पुरुषोत्तम... Details

अज्ञानी और ज्ञानवान के लक्षण तथा राग-द्वेष से रहित होकर कर्म करने के लिए प्रेरणा – Sansthanam.

श्रीमद्‍भगवद्‍गीता - अथ तृतीयोऽध्यायः- कर्मयोग ।।।स्वामी धनञ्जय महाराज. http://www.sansthanam.com/(अज्ञानी और ज्ञानवान के लक्षण तथा राग-द्वेष से रहित होकर कर्म करने के लिए प्रेरणा)सक्ताः कर्मण्यविद्वांसो यथा कुर्वन्ति... Details

सच्चे सत्संगी के लक्षण ।। Shrimad Bhagwat Katha – Swami Dhananjay Maharaj

जय श्रीमन्नारायण,मित्रों, आइये आज सत्संगियों के लक्षण के विषय में चर्चा करते हैं, मुख्य रूप से सच्चे सत्संगी के चार लक्षण होते है ।।१.पहला लक्षण... Details

जीवन एक संघर्ष है. कैसे ? Life is a struggle. How ?

जय श्रीमन्नारायण,Swami Dhananjay Maharaj.जीवन पशु रूप में हो या कीट पतंगों के रूप में, या फिर मानव के रूप में। जीवन एक यात्रा के समान... Details