Bhajans

लक्ष्मी नारायणम् भजे नारायणम्।।

लक्ष्मी नारायणम् भजे नारायणम्।। Bhajan Narayanam Bhaje. नारायणम् भजे नारायणम् , लक्ष्मी नारायणम् भजे नारायणम्--२ नारायणम् नारायणम्..... वृन्दावन स्थितम् नारायणम्                ...

Krishna Prem ki Shayariyan

चाँदनी बन के बरसती हैं तेरी यादें मुझ पर।।

चाँदनी बन के बरसने लगती हैं तेरी यादें मुझ पर।। Chandani Bankar Barasane Lagati Hain Teri Yaden Mujhpar. जय श्रीमन्नारायण,          प्यारे कन्हैया,...

आजकल तुम्हारी कमी बहुत अखरती है।।

जाने क्यूँ आजकल, तुम्हारी कमी बहुत अखरती है।। Janen Kyon Aajkal Tumhari kami Bahut Akharati Hai. जय श्रीमन्नारायण, प्यारे कन्हैया, प्यारे कान्हा जी !   जाने क्यूँ...

मेरी ये बेवफा ज़ुबान तुझसे इज़हार कर बैठा।।

बेवफा मेरी ये ज़ुबान तुझसे इज़हार कर बैठा।। Bevafa Meri Ye Juban Izahar Kar Baitha.       प्यारे कन्हैया, प्यारे कान्हा जी !                   मैं तुम्हें इतने...

उसकी किस्मत में मेरी भी जान लिख दे।।

उसकी किस्मत में मेरी भी जान लिख दे ।। Usaki Kismat Me Meri Bhi Jaan Likh De. जय श्रीमन्नारायण, मेरे प्यारे कन्हैया जी, मेरे प्रियतम कान्हा...

मैं दिल हूँ तुम मेरी साँसे हो।।

मैं दिल हूँ तुम मेरी साँसे हो।। Mai Dil Hun tum Meri Sanse Ho. जय श्रीमन्नारायण,        मेरे प्यारे कन्हैया जी, मेरे प्रियतम कान्हा...

तेरे चेहरे को कभी भुला नहीं सकता।।

तेरे चेहरे को कभी भुला नहीं सकता।। tere chehare ko kabhi bhula nahi sakata. जय श्रीमन्नारायण, प्यारे कन्हैया, मेरे प्यारे कन्हैया जी, मेरे प्रियतम कान्हा जी !  ...

My Articles

अष्ट सिद्धि नव निधी के दाता हनुमान जी।।

अष्ट सिद्धि नव निधी के दाता हनुमान जी।। Hanumat Sadhna Se Siddhi. जय श्रीमन्नारायण, मित्रों, देवर्षि, ब्रह्मर्षि, ऋषि-मुनि, साधु-संत, महात्माओं तथा भक्तों ने ज्ञान प्राप्ति के...

दंडवत प्रणाम क्यों करना चाहिए?

साष्टांग दंडवत प्रणाम का लाभ एवं साष्टांग क्यों करना चाहिए? Sanshtang Pranam Ke Labh. जय श्रीमन्नारायण, मित्रों, दंडवत प्रणाम भारत में ऎसी परंपरा है, जिसमें अभिवादन...

पुराणों में विज्ञान एवं पुराणों कि महिमा।।

पुराणों में विज्ञान एवं पुराणों कि महिमा।। Puranon Me Vigyan And Mahima. जय श्रीमन्नारायण, यज्ञकर्म क्रियावेदः स्मृतिर्वेदो गृहाश्रमे। स्मृतिर्वेदः क्रियावेदः पुराणेषु प्रतिष्ठितः।। पुराणपुरुषाजातं यथेदं जगद्द्भुतम्। तथेदं वाङ्मयं...

Popular Posts

गंगा दशहरा का माहात्म्य एवं कथा।।

गंगा दशहरा का माहात्म्य एवं कथा।। Ganga Dashahara Mahatmya. जय श्रीमन्नारायण, मित्रों, गंगा दशहरा पर्व सनातन संस्कृति का एक पवित्र त्योहार है। मान्यता के अनुसार कहा...

Stay Connected

16,985FansLike
719FollowersFollow
21FollowersFollow
2,458FollowersFollow
61,453SubscribersSubscribe

Chanakya Neeti

सद्भाव से सबको वश में कर सकते हैं।।

सद्भाव से सबको वश में किया जा सकता है - शुक्र नीति।। Sadbhav Rakhana Chahiye - Shukra Neeti. "सद्भावेन हरेन्मित्रं सद्भावेन च बान्धवान्। स्त्रीभृत्यौ प्रेममानाभ्यां दाक्षिण्येनेतरं...

Narad Neeti

नारद-नीति :- ================================================= हजारों मूर्खों की अपेक्षा एक पण्डित श्रेष्ठ है ।। नारद अपने समय के सर्वश्रेष्ठ नीति-विशारद रहे हैं । उनकी नीतियाँ सर्वस्वीकार्य है । वे...

Shukra Neeti

शुक्र-नीति :-- ======================================== सफलता का रहस्य :- ======================================== "चिरं संशृणुयान्नित्यं यजानीयात् क्षिप्रमेव च । विज्ञाय प्रभजेदर्थान्न कामं प्रभजेत् क्वचित् ।।" (शुक्रनीति--3.57) अर्थः- जो व्यक्ति बात को देर तक सुने और उसके...

Vidur Neeti

विदुर-नीति :-- ===================================================== इन दो को भूमि निगल जाती है । "द्वाविमौ ग्रसते भूमिः सर्पो बिलशयानिव । राजानं चाsविरोद्धारं ब्राह्मणं चाप्रवासिनम् ।।" (विदुर-नीति-1.53) (महाभारत-उद्योगपर्व-विदुर-प्रजागर) अर्थः---जैसे सर्प बिल में रहने वाले...

Venkatesha Stotram

अथ श्रीवेङ्कटेशविजयस्तोत्रम् ।।

अथ श्रीवेङ्कटेशविजयस्तोत्रम् ।। Shri Venkatesha Vijaya Stotram.दैवतदैवत मङ्गलमङ्गल पावनपावन कारणकारण ।वेङ्कटभूधरमौलिविभूषण माधव भूधव देव जयीभव ॥ १॥वारिदेह दयाकर शारदनीरजचारुविलोचन ।देवशिरोमणिअपादसरोरुह...

भगवान श्रीवेङ्कटेश सेवाक्रमः।।

भगवान श्रीवेङ्कटेश सेवाक्रमः ।। Venkatesha Seva krama. यश्चक्रे वेंकटेशस्य सेवाक्रममनुत्तमम् । तं शठारिगुरुं वन्दे गार्ग्यं श्रीपुरवासिनम् ॥ श्रीवेन्कटाचलाधीशं श्रियाऽध्यासितवक्षसम् । श्रितचेतनमन्दारं श्रीनिवासमहं भजे ॥ १॥ प्रातरुत्थाय पूतात्मा ध्यायेय स्वगुरोः...

वेदव्यास कृतं वेङ्कटेश ध्यानम्।।

अथ वेदव्यासकृतं वेङ्कटेशध्यानम्।। Venkatesha Dhyanam. मित्रों, इस स्तोत्र में कुछ शब्द मिसिंग है। इसका कोई पुख्ता प्रमाण कहीं मिलता नहीं है। फिर भी यह भगवान...

Mahalaxmi Stotram

श्रीमहालक्ष्मी सहस्रनामस्तोत्रम्।।

अथ श्रीमहालक्ष्मी सहस्रनामस्तोत्रम्।। Shri Mahalaxmi Sahasranama Stotram. श्रीः पद्मा प्रकृतिः सत्त्वा शान्ता चिच्छक्तिरव्यया । केवला निष्कला शुद्धा व्यापिनी व्योमविग्रहा ॥ १॥ व्योमपद्मकृताधारा परा व्योमामृतोद्भवा । निर्व्योमा व्योममध्यस्था पञ्चव्योमपदाश्रिता...

अथ श्रीमहालक्ष्मी सुप्रभातम्।।

अथ श्रीमहालक्ष्मी सुप्रभातम्।। Shri Mahalaxmi Suprabhatam. श्रीलक्ष्मि श्रीमहालक्ष्मि क्षीरसागरकन्यके उत्तिष्ठ हरिसम्प्रीते भक्तानां भाग्यदायिनि। उत्तिष्ठोत्तिष्ठ श्रीलक्ष्मि विष्णुवक्षस्थलालये उत्तिष्ठ करुणापूर्णे लोकानां शुभदायिनि॥१॥ श्रीपद्ममध्यवसिते वरपद्मनेत्रे श्रीपद्महस्तचिरपूजितपद्मपादे। श्रीपद्मजातजननि शुभपद्मवक्त्रे श्रीलक्ष्मि भक्तवरदे तव सुप्रभातम्॥२॥ जाम्बूनदाभसमकान्तिविराजमाने तेजोस्वरूपिणि सुवर्णविभूषिताङ्गि। सौवर्णवस्त्रपरिवेष्टितदिव्यदेहे श्रीलक्ष्मि भक्तवरदे तव...

अथ श्रीमहालक्ष्मी ललितास्तोत्रम्।।

अथ श्रीमहालक्ष्मी ललितास्तोत्रम्।। Shri Mahalakshmi Lalita Stotram. ॥ ध्यानम् ॥ चक्राकारं महत्तेजः तन्मध्ये परमेश्वरी। जगन्माता जीवदात्री नारायणी परमेश्वरी॥१॥ व्यूहतेजोमयी ब्रह्मानन्दिनी हरिसुन्दरी। पाशांकुशेक्षुकोदण्ड पद्ममालालसत्करा॥२॥ दृष्ट्वा तां मुमुहुर्देवाः प्रणेमुर्विगतज्वराः। तुष्टुवुः श्रीमहालक्ष्मीं ललितां वैष्णवीं...

अथ श्री कनकधारा स्तोत्रम्।।

अथ श्री कनकधारा स्तोत्रम्।। Kanaka Dhara Stotra. मन में लक्ष्मी की पूर्ण कृपा प्राप्ति की कामना हो तो आइये कनकधारा स्तोत्रम् का पाठ करें। कहा...

माता श्रीमहालक्ष्मी कवचम्।।

अथ श्रीमहालक्ष्मी कवचम्।। Mahalakshmi Kavacham. श्री गणेशाय नमः ।। अस्य श्रीमहालक्ष्मीकवचमन्त्रस्य ब्रह्मा ऋषिः गायत्री छन्दः महालक्ष्मीर्देवता महालक्ष्मीप्रीत्यर्थं जपे विनियोगः । इन्द्र उवाच । समस्तकवचानां तु तेजस्वि कवचोत्तमम् । आत्मरक्षणमारोग्यं...
- Advertisement -

About Sansthanam

About Sansthanam

श्री त्रिदंडी देव सेवाश्रम संस्थान, सिलवासा में आपका हार्दिक अभिनन्दन है।। About Sansthanam. श्री त्रिदंडी देव सेवाश्रम संस्थान, सिलवासा. वैदिक ऋषियों के द्वारा निर्मित, वैदिक...
Advertisment

Narayana Stotram

अथ पुरुष सूक्तम्।।

अथ पुरुष सूक्तम्।। Purush Suktam. ॐ सहस्रशीर्षा पुरुषः सहस्राक्षः सहस्रपात्। स भूमि गुं सर्वत स्मृत्वाऽत्यतिष्ठद्दशाङ्गुलम्॥१॥ पुरुष एवेद गुं सर्वं यद्भूतं यच्च भाव्यम्। उतामृतत्वस्येशानो यदन्नेनातिरोहति॥ एतावानस्य महिमातो ज्यायाँश्च पूरुषः। पादोऽस्य विश्वा...

ब्रह्मादी देवो द्वारा स्तुति-रामचरितमानस।।

ब्रह्मादी देवो द्वारा स्तुति।। - रामचरितमानस।। Bhagwan Ki Stuti Devon Dwara. शान्ताकारं भुजगशयनं पद्मनाभं सुरेशं, विश्वाधारं गगनसदृशं मेघवर्णम् शुभाङ्गम्। लक्ष्मीकान्तम् कमलनयनं योगिभिध्यार्नगम्यम्, वंदे विष्णुम् भवभयहरं सर्वलोकैकनाथम्।। जय जय सुरनायक...

ऋणमोचन श्रीनृसिंह स्तोत्रम्।।

अथ ऋणमोचनम् श्रीनृसिंह स्तोत्रम् (श्रीनृसिंहपुराणे)।। Rinamochan Narasinha Stotram. जय श्रीमन्नारायण, मित्रों, भगवान नरसिंह की कृपा से इस स्तोत्र का पाठ करने वाला व्यक्ति अपने हर प्रकार...

अथ श्री गरुड कवचम्।।

सर्प-कालसर्प एवं ग्रह दोष निवारक - श्री गरुड कवचम्।। Garuda kavacham. जय श्रीमन्नारायण, मित्रों, इस गरुण कवच को प्रातः स्नान करके जो कोई व्यक्ति भी पाठ...

Stotram

अथ श्रीबदरीनाथ अष्टकम्।।

अथ श्रीबदरीनाथ अष्टकम्।। Shri Badari Nath Ashtakam. ॥ श्रीबदरीनाथाष्टकम् ॥ भू-वैकुण्ठ-कृतं वासं देवदेवं जगत्पतिम्। चतुर्वर्ग-प्रदातारं श्रीबदरीशं नमाम्यहम्॥१॥ तापत्रय-हरं साक्षात् शान्ति-पुष्टि-बल-प्रदम्। परमानन्द-दातारं श्रीबदरीशं नमाम्यहम्॥२॥ सद्यः पापक्षयकरं सद्यः कैवल्य-दायकम्। लोकत्रय-विधातारं श्रीबदरीशं नमाम्यहम्॥३॥ भक्त-वाञ्छा-कल्पतरुं करुणारस-विग्रहम्। भवाब्धि-पार-कर्तारं...

अथ श्रीवेङ्कटेश करावलम्बस्तोत्रम्।।

अथ श्रीवेङ्कटेश करावलम्बस्तोत्रम्।। Shri Venkatesha Karavalamba Stotra.   श्री शेषशैल सुनिकेतन दिव्यमूर्ते        नारायणाच्युत हरे नलिनायताक्ष । लीलाकटाक्ष परिरक्षित सर्वलोक        श्री वेङ्कटेश मम देहि...

अथ श्रीस्वामी वेङ्कटेश अष्टकम्।।

अथ श्रीस्वामी वेङ्कटेशा अष्टकम्।। Shri Swami Venkatesha Ashtakam.   ॐतत्सदिति निर्देश्यं जगज्जन्मादिकारणम् । अनन्तकल्याणगुणं वन्दे श्रीवेङ्कटेश्वरम् ॥ १॥ नतामरशिरोरत्न श्रीयुतम् श्रीपदाम्बुजम् । प्रावृषेण्यघनश्यामं वन्दे श्रीवेङ्कटेश्वरम् ॥ २॥ मोहादिषडरिव्यूहग्रहाकुलमहार्णवे । मज्जतां तरणीं...

अथ श्रीवेङ्कटेशनिध्यानम् ।। Shri Venkatesha Nidhyanam.

Shri Venkatesha Nidhyanam. श्रीवेङ्कटेशनिध्यानम् ।। ईशानां जगतोऽस्य वेङ्कटपतेर्विष्णोः परां प्रेयसीं तद्वक्षस्स्थलनित्यवासरसिकां तत्क्षान्तिसंवर्धिनीम् । पद्मालङ्कृतपाणिपल्लवयुगां पद्मासनस्थां श्रियं वात्सल्यादिगुणोज्ज्वलां भगवतीं वन्दे जगन्मातरम् ॥ १॥ श्रीवेङ्कटेशदयितां श्रियं घटकभावतः । समाश्रित्य वृषाद्रीशचरणौ शरणं श्रये...

Jagannath Stotram

Jagannatha Sahasranam Stotram

अथ श्रीजगन्नाथ सहस्रनाम स्तोत्रम्।।

0
अथ श्रीजगन्नाथ सहस्रनाम स्तोत्रम्।। Jagannatha Sahasranam Stotram. प्रार्थना ।। ॐ श्रीजगन्नाथाय नमो नमः।। देवदानवगन्धर्वयक्षविद्याधरोरगैः । सेव्यमानं सदा चारुकोटिसूर्यसमप्रभम् ॥ १॥ ध्यायेन्नारायणं देवं चतुर्वर्गफलप्रदम् । जय कृष्ण जगन्नाथ जय सर्वाधिनायक ॥...
Shri Jagannath Ashtakam

अथ श्रीजगन्नाथ अष्टकम्।।

0
अथ श्रीजगन्नाथ अष्टकम्।। Shri Jagannath Ashtakam. कदाचित्कालिन्दीतटविपिनसङ्गीतकरवो मुदा गोपीनारीवदनकमलास्वादमधुपः । रमाशम्भुब्रह्मामरपतिगणेशार्चितपदो जगन्नाथः स्वामी नयनपथगामी भवतु मे ॥ १ ॥ भुजे सव्ये वेणुं शिरसि शिखिपिञ्छं कटितटे दुकूलं नेत्रान्ते सहचरकटाक्षं विदधते...
Jagannatha Sahasranam Stotram

Prayer to Lord Jagannatha. श्रीजगन्नाथस्तोत्र ।। जगन्नाथप्रणामः ।। Sansthanam.

0
श्रीजगन्नाथस्तोत्र ।। जगन्नाथप्रणामः ।। नीलाचलनिवासाय नित्याय परमात्मने । बलभद्रसुभद्राभ्यां जगन्नाथाय ते नमः ॥ १॥ जगदानन्दकन्दाय प्रणतार्तहराय च । नीलाचलनिवासाय जगन्नाथाय ते नमः ॥ २॥  ॥ श्री जगन्नाथ प्रार्थना ॥ रत्नाकरस्तव गृहं गृहिणी च...
Advertisment

LATEST ARTICLES

सभी की नज़रों में अच्छा कैसे बनें रहें।।

सभी की नज़रों में अच्छा कैसे बनें रहें।। SAbki Najaro Me Achchhe Bane. जय श्रीमन्नारायण, मित्रों, एक बार कक्षा दस की हिंदी शिक्षिका अपने छात्र को...

जानते हुए भूलकर भी अधर्म ना करें।।

जानते हुए भूलकर भी अधर्म ना करें।। Dharm Kare Adharm Nahi. जय श्रीमन्नारायण, मित्रों, एक बार की बात है, एक जंगल की राह से एक जौहरी...

श्रावण पुत्रदा एकादशी व्रत कथा एवं विधि।।

श्रावण पुत्रदा एकादशी व्रत कथा एवं विधि।। Shravan Putrada Ekadashi Vrat Katha And Vidhi. जय श्रीमन्नारायण, मित्रों, वैदिक सनातन के पञ्चांग के अनुसार पड़ने वाली एकादशी...

देवालय-निर्माण से प्राप्त होने वाले फल।।

देवालय-निर्माण से प्राप्त होने वाले फल।। Mandir Nirman Ka Fal. जय श्रीमन्नारायण, मित्रों, भगवान् लक्ष्मीनारायण अथवा वासुदेव आदि विभिन्न स्वरूपों के निमित्त मंदिर का निर्माण कराने...

आ नो भद्रादि स्वस्ति मन्त्र अर्थ सहितम्।।

आ नो भद्रादि स्वस्तिवाचन मन्त्र अर्थ सहितम्।। Swastivachan Mantra With Mining. आ नो भद्राः क्रतवो यन्तु विश्वतोऽदब्धासो अपरीतास उद्भिदः। देवा नोयथा सदमिद् वृधे असन्नप्रायुवो रक्षितारो...

गंगा दशहरा का माहात्म्य एवं कथा।।

गंगा दशहरा का माहात्म्य एवं कथा।। Ganga Dashahara Mahatmya. जय श्रीमन्नारायण, मित्रों, गंगा दशहरा पर्व सनातन संस्कृति का एक पवित्र त्योहार है। मान्यता के अनुसार कहा...

महाभारत का सबसे ज्यादा भावुक प्रसंग।।

महाभारत का सबसे ज्यादा भावुक प्रसंग।। Mahabharat Ka Bhavuk Prasang. जय श्रीमन्नारायण, मित्रों, महाभारत में ऐसी कई बार कुछ ऐसी घटनाएं घटी हैं जो व्यक्ति को...

माता गायत्री का जन्म कैसे हुआ?

माता गायत्री का जन्म कैसे हुआ? Mata Gayatri Ke Janma Ki Katha. माता गायत्री को वेदमाता भी कहा जाता है। उनके हाथों में चारों वेद...

निर्जला एकादशी व्रत का कथा एवं विधि।।

निर्जला एकादशी व्रत का कथा एवं विधि।। Nirjala Ekadashi Vrat Katha And Vidhi. जय श्रीमन्नारायण, मित्रों, आज हम बात करेंगे संसार के सबसे प्रभावशाली एवं सबसे...

अथ पुरुष सूक्तम्।।

अथ पुरुष सूक्तम्।। Purush Suktam. ॐ सहस्रशीर्षा पुरुषः सहस्राक्षः सहस्रपात्। स भूमि गुं सर्वत स्मृत्वाऽत्यतिष्ठद्दशाङ्गुलम्॥१॥ पुरुष एवेद गुं सर्वं यद्भूतं यच्च भाव्यम्। उतामृतत्वस्येशानो यदन्नेनातिरोहति॥ एतावानस्य महिमातो ज्यायाँश्च पूरुषः। पादोऽस्य विश्वा...

Most Popular

सभी की नज़रों में अच्छा कैसे बनें रहें।।

सभी की नज़रों में अच्छा कैसे बनें रहें।। SAbki Najaro Me Achchhe Bane. जय श्रीमन्नारायण, मित्रों, एक बार कक्षा दस की हिंदी शिक्षिका अपने छात्र को...

जानते हुए भूलकर भी अधर्म ना करें।।

जानते हुए भूलकर भी अधर्म ना करें।। Dharm Kare Adharm Nahi. जय श्रीमन्नारायण, मित्रों, एक बार की बात है, एक जंगल की राह से एक जौहरी...

देवालय-निर्माण से प्राप्त होने वाले फल।।

देवालय-निर्माण से प्राप्त होने वाले फल।। Mandir Nirman Ka Fal. जय श्रीमन्नारायण, मित्रों, भगवान् लक्ष्मीनारायण अथवा वासुदेव आदि विभिन्न स्वरूपों के निमित्त मंदिर का निर्माण कराने...

मत्स्य अवतार का रहस्य।।

मत्स्य अवतार का रहस्य।। Matsya Avatar Ka Rahasya. जय श्रीमन्नारायण, मित्रों, एक बार एक बहुत बड़े दैत्य ने वेदों को चुरा लिया। उस दैत्य का नाम...
error: Content is protected !!